उत्तराखंड से दुर्लभ प्रजाति के कछुए तस्करी करते हरियाणा के चार लोग गिरफ्तार
उत्तराखंड से दुर्लभ प्रजाति के कछुए तस्करी करते हरियाणा के चार लोग गिरफ्तार

देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून जिले के डोईवाला में दुर्लभ प्रजाति के कछुए के साथ डोईवाला पुलिस ने हरियाणा के चार लोगों को गिरफ्तार किया है। जिन पर वन्य संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेशकर जेल भेज दिया है। डोईवाला कोतवाली पुलिस के अनुसार शुक्रवार देर रात लालतप्पड़ चौकी पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इस बीच हरिद्वार की तरफ से आ रही कार चालक को चेकिंग के लिए रोक लिया। कार में चार लोग सवार थे। उनसे पूछताछ की तो वे पुलिस को संतोषजनक जबाव नहीं दे पाए। साथ ही उनके पास से एक दुर्लभ प्रजाति का कछुआ भी मिला।

पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया पूजा-पाठ करने के लिए कछुए को लाया गया है। कोतवाली वरिष्ठ उपनिरीक्षक राजविक्रम सिंह पंवार ने बताया कि आरोपियों की पहचान रोहित पुत्र नेत्रपाल सिंह निवासी एफ/2 भीम सैनी कॉलोनी बल्लभगढ़, फरीदाबाद, गोविंद निवासी सिकंदरपुर थाना खेड़ी सितौला, जिला गुरूग्राम, प्रहलाद कुमार पुत्र गणेश कुमार निवासी शाहपुरा, बल्लभगढ़, फरीदाबाद, धरम वीर पुत्र जयपाल निवासी ग्राम ठोरका, हयातपुर, गुरूग्राम, हरियाणा के रूप में हुई है। आरोपियों के खिलाफ वन्य संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। कोर्ट में पेश करने के बाद सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

रुपयों की चाह में फंसे ये लोग:पुलिस के अनुसार पकड़े गए लोगों ने बताया कि कछुए को उनके यहां शुभ माना जाता है। इसकी पूजा करने से धन दौलत की प्राप्ति होती है। लिहाजा फरीदाबाद से हरिद्वार पहुंचे। वहां पर गंगा में स्नान किया। उसके बाद वे जंगल में पूजा पाठ करने के लिए लालतप्पड़ पहुंच गए। पुलिस ने बताया पकड़े गए युवक बेरोजगार हैं। अंध विश्वास के चलते वे फंस गए।

Share this story