गेस्ट हाउस एवं लॉज में संचालित हो रहे जिस्मफरोशी के धंधे
गेस्ट हाउस एवं लॉज में संचालित हो रहे जिस्मफरोशी के धंधे

हरिद्वार में श्रवणनाथ नगर के गेस्ट हाउस में हुए अंकित उर्फ रोहित हत्याकांड ने एक बार फिर गेस्ट हाउस एवं लॉज में संचालित हो रहे जिस्मफरोशी के धंधे की तरफ हर किसी का ध्यान खींचा है।  कई होटल और लॉज जिस्मफरोशी के ठिकाने बन चुके है और सिंडीकेट तौर तरीके से इस धंधे को अंजाम दिया जा रहा है। 

अंकित उर्फ रोहित हत्याकांड में एक कालगर्ल भी अहम कड़ीह बनकर सामने आई थी, जब कालगर्ल से पुलिस ने पूछताछ की तब उसने कई जानकारियां पुलिस के समक्ष उगल दीं। शहर के किन किन होटल, लॉज एवं गेस्ट हाऊस में जिस्मफरोशी होती है, उनके नाम भी बताए।

यह जानकारी भी दी कि अधिकांश होटल संचालक या मैनेजर ही इस धंधे लिप्त है। कालगर्ल ही नहीं बल्कि नशे के लिए शराब, बीयर, स्मैक आदि की व्यवस्था भी करते हैं।   ग्राहक की सुविधानुसार वह गेस्ट हाउस में भी आ सकता है या फिर उसके बताए स्थान पर कॉलगर्ल को भेज दिया जाता है। गेस्ट हाउस में आने पर रूम का चार्ज अलग से देना  होता है। 

ऐसे चलता है नेटवर्क
पूरा नेटवर्क कुछ यूं भी चलता है। दरअसल, स्थानीय ही नहीं बल्कि अन्य प्रदेशों की कॉलगर्ल भी यहां पहुंचती है। गेस्ट हाऊस, होटल एवं लॉज संचालक बाकायदा एक या दो हफ्ते के लिए कॉल गर्ल बुलाते हैं। एक निश्चित रकम तय कर ली जाती है और खाने, पीने से लेकर ठहरने की जिम्मेदारी संचालक मैनेजर की ही होती है।

रेलवे स्टेशन, बस अड्डे से पकड़ी जा चुकी हैं महिलाएं
हरिद्वार रेलवे स्टेशन एवं बस स्टैंड के आसपास भी इस धंधे में लिप्त महिलाएं और युवतियां सक्रिय रहती हंै। शहर कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह ने बताया कि इस साल करीब पचास महिलाओं और युवतियों को सरेराह अश्लील हरकत करने के आरोप में पकड़ा गया। कई महिलाएं तो दो से तीन बार गिरफ्तार हुई हैं। यह सभी जिस्मफरोशी के धंधे में लिप्त रही हैं।

दो होटलों में पकड़ी गई थीं नौ कॉलगर्ल
इस वर्ष हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने फरवरी एवं अप्रैल माह में दो होटल में जिस्मफरोशी के धंधे

Share this story