सुरक्षित हैं तालिबान के खिलाफ लड़ रहे अहमद मसूद, खुद ट्वीट कर कही यह बात
सुरक्षित हैं तालिबान के खिलाफ लड़ रहे अहमद मसूद, खुद ट्वीट कर कही यह बात

काबुल। अफगानिस्तान में तालिबान के एक बयान में कहा गया है कि तालिबान बलों ने पंजशीर प्रांत पर पूरी तरह से नियंत्रण कर लिया है। वहीं रेजिस्टेंस फोर्सेज के नेता अहमद मसूद ने अपने फेसबुक पेज पर एक आडियो संदेश में कहा कि रेजिस्टेंस फ्रंट अभी भी पंजशीर में मौजूद हैं और तालिबान बलों से लड़ना जारी रखे हैं। टोलोन्यूज के अनुसार यह बयान जारी किया गया है।

माना जा रहा है कि पूरे अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा हो गया है। पंजशीर पर हमले के लिए पाकिस्तान की सेना ने तालिबान का सहयोग किया है। रविवार को तालिबान की मदद करने के लिए पाकिस्तानी सेना ने रेजिस्टेंस फ्रंट के ठिकानों पर ड्रोन से हवाई हमले किए। इसमें पंजशीर के कई कमांडर मारे गए। पंजशीर में रजिस्टेंस के प्रमुख नेता और देश के पूर्व उप राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह जिस घर में ठहरे थे, उस पर भी हमला हुआ। ऐसी खबरें आ रही हैं कि हमले के बाद अमरुल्‍ला सालेह ताजिकिस्तान भाग गए। अहमद मसूद पंजशीर में ही सुरक्षित ठिकाने पर हैं। अन्‍य खबरों में ऐसा कहा है कि अमरुल्‍ला सालेह और अहमद मसूद तालिबान की हिरासत में हैं।

पंजशीर में पाकिस्तान के CH-4 ड्रोन के हमले में रेजिस्टेंस फ्रंट के प्रवक्ता फहीम दश्ती और पांच अन्य लड़ाकों की मौत हो गई। फहीम दश्ती पेशे से पत्रकार थे और 15 अगस्त तक काबुल डेली के संपादक भी थे। अहमद मसूद के करीबी और पंजशीर बलों के प्रमुख सालेह मोहम्मद रेगिस्तानी भी पाकिस्‍तानी सेना के हमले में मारे गए।

Share this story