उत्तर प्रदेशराजनीतिलखनऊ

नैतिक अधिकार नहीं योगी को सत्ता में बने रहने का : आप सांसद संजय

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) योगी सरकार पर सिलसिलेवार तरीके से हमला कर रही है। दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर कई अन्य आरोप भी लगाए। राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा, “उत्तर प्रदेश में जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील के बाद भी किसी नागरिक को सुरक्षा नहीं मिल सकती, तो वह अपनी जान बचाने के लिए किससे गुहार लगाने जाए? महोबा में व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी से डीएम और एसपी हर महीने पांच लाख रुपये रंगदारी वसूलते थे और रंगदारी देने में असमर्थता जताने पर व्यापारी की हत्या करा दी गई।”

एक वीडियो का हवाला देते हुए संजय सिंह ने कहा, “व्यापारी ने अपनी जान बचाने के लिए सीएम योगी से गुहार लगाई थी, लेकिन योगी सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। सीएम आदित्यनाथ व्यापारी की हत्या के लिए सीधे जिम्मेदारी हैं और उनको अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक और डीएम की गिरफ्तारी होनी चाहिए और पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए।”

उन्होंने कहा, “चीन हमारा दुश्मन बना हुआ है, हमारे जवानों को शहीद कर रहा है, लेकिन दलाली खाने के लिए योगीजी ने 1.45 लाख का एनालाइजर चीनी कंपनी से 3.30 लाख रुपये में खरीदा। उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समाज के लोगों की बढ़ रहीं हत्याएं, यूपी के करीब 65 जिलों में ऑक्सिमिटर और थर्मामीटर खरीद घोटाला समेत अन्य मामलों को मैं संसद में उठाऊंगा।”

उन्होंने आगे कहा, “उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के राज में अपराधीकरण, हत्याएं, लूट, डकैती, दुष्कर्म और अपहरण जैसी घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। लेकिन आज जिस मामले का खुलासा मैं करने जा रहा हूं, यह जानकर आपको हैरानी होगी कि ऐसी घटना भी किसी राज्य में हो सकती है?’ उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समाज के लोगों की हत्याओं के एक नहीं, अनेक मामले सिलसिलेवार तरीके से सामने आए और मैंने कई बार इस मुद्दे को उठाया है।”

संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा, “कोरोना महामारी के इस काल में योगी सरकार में जो महाघोटाला हुआ है, चाय बनाने वाली कंपनी, कंस्ट्रक्शन कंपनी, स्कूल और कॉलेज में कंपनी और राशन बेचने वाली कंपनी से ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर कई सौ गुना महंगे दामों पर खरीदकर जो एक महाघोटाला योगी सरकार ने किया है, इस मामले को भी मैं संसद में उठाऊंगा। न केवल ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर की खरीद में ही घोटाला किया गया है, बल्कि योगी सरकार ने अपनी ही सरकारी एजेंसी से मिलने वाले 145000 रुपये की कीमत वाला एनालाइजर चीन की कंपनी से लगभग 3,28,000 रुपये में खरीदा। एक तरफ चीन हमारे सैनिकों को सरहद पर शहीद कर रहा है, मार रहा है और दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी दलाली खाने के लिए चीन की कंपनी से महंगे दामों पर एनालाइजर खरीद रहे हैं।”