उत्तर प्रदेश

राम मंदिर के भूमि पूजन में शामिल होने अयोध्या पहुँची कोठारी बन्धुओं की बहन ने दिया बड़ा बयान


राजसत्ता पोस्ट

अयोध्या से मनोज यादव की रिपोर्ट

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन में आमंत्रित अतिथियों के अयोध्या पहुंचने का क्रम जारी है।अब तक डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत, साध्वी ऋतंभरा, कोठारी बंधुओं की बहन पूर्णिमा कोठारी, बाबा रामदेव और उमा भारती अब तक आयोध्या पहुंच चुके हैं. उम्मीद की जा रही है कि सुबह तक सभी अतिथि पहुंच जाएंगे. राम नगरी पहुंचे सभी अतिथियों ने राम मंदिर के प्रति अपनी गहरी आस्था व्यक्त की है।भूमि पूजन के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे कोठारी बंधुओं की बहन पूर्णिमा कोठारी ने कहा है कि उनके भाइयों का बलिदान सफल हुआ है. पूर्णिमा कोठारी ने कहा है कि राम मंदिर परिसर में एक संग्रहालय बनाकर इस आंदोलन में रक्त बहाने वाले कार्यों को के स्मृतियों को संजोने का प्रयास होना चाहिए. पूर्णिमा कोठारी ने राम मंदिर निर्माण की शुरुआत पर कहा कि आज उन्हें गर्व का अनुभव हो रहा है. पूर्णिमा कोठारी ने कहा कि उनकी मां ने पीएम मोदी पर एक विश्वास जताया था और वह विश्वास आज पूरा होने जा रहा है. पूर्णिमा कोठारी ने राम मंदिर आंदोलन के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर करने वाली की स्मृति में एक संग्रहालय की व्यवस्था करने की मांग की है।

वही राम मंदिर निर्माण की शुरुआत पर साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि मुझे बेहद खुशी है. इसी शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. राम मंदिर आंदोलन के संघर्ष को लेकर उन्होंने कहा कि जैसे प्रसव पीड़ा के बाद शिशु गोद में आने के बाद मां की सारी पूरा समाप्त हो जाती है वैसे ही भगवान राम के जन्म स्थान पर मंदिर निर्माण की शुरुआत से उन्हें अनुभव हो रहा है. राम मंदिर निर्माण शुरू पुणे से सारी पढ़ाई गुम हो गई हैं. अब प्रसन्नता ही प्रसन्नता है।राम हमारे आचरण में विद्यमान बाबा रामदेव ने कहा हमारी राष्ट्रीय मर्यादा है, हमारे हृदय और आचरण में हैं. मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का भव्य मंदिर बनने जा रहा है. यह हमारे लिए हर्ष और गौरव का विषय है।वही राम मंदिर भूमि पूजन से ठीक 1 दिन पहले अयोध्या में दीपोत्सव का कार्यक्रम शुरू हो गया है।आज राम नगरी की सांस्कृतिक सीमा के अंदर 3,51000 दिए जलाए गए।डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय की वॉलिंटियर्स और समाजसेवियों ने अयोध्या की सभी प्रमुख मठ मंदिरों, राम जन्मभूमि से हनुमानगढ़ी होकर जाने वाली मुख्य सड़क के दोनों ओर बड़ी संख्या में दिए प्रज्ज्वलित किए हैं. 50 से अधिक स्थानों पर दिए प्रज्वलित किए गए हैं. इसके साथ ही सभी धार्मिक स्थलों पर पूजा-पाठ और रामचरितमानस का पाठ किया गया।अयोध्या की संस्कृति क्षेत्र में 3 लाख 51 हजार दीये प्रज्वलित किए गए। राम मंदिर भूमि पूजन के दिन 5 अगस्त को भी अयोध्या में दीपोत्सव का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।मठ मंदिरों के साथ लोग अपने घरों में भी दिए जलाएंगे.