अंतरराष्ट्रीय

रूस ने बनाई कोरोना वैक्सीन ,दुनिया भर में चर्चा का बाजार गर्म

दुनिया भर में चल रही कोरोना वैक्सीन बनाने की कोशिशों के बीच मीडिया सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर आ रही है । कई देशों के फार्मा लैब व यूनिवर्सिटी वैक्सीन बनाने के दो चरण सफलतापूर्वक पूर्ण करके तीसरे चरण की ओर बढ़े है , इसी बीच रूस से खबर आ रही है की उन्होंने वैक्सीन के सभी चरण पूर्ण कर लिए है, दावा किया जा रहा है की कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने बाजी मार ली है।

रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा है कि उसने कोरोना वायरस के लिए वैक्‍सीन तैयार कर लिया है। विश्वविद्यालय का कहना है कि वैक्‍सीन के सभी परीक्षणों को सफलतापूर्वक संपन्‍न कर लिया गया है। अगर यह दावा सच निकला तो यह कोरोना वायरस की पहली वैक्‍सीन होगी। इस दावे की अगर पुष्टि होती है तो ये तय है की , कोरोना वायरस की काट  को रूस ने खोज निकाला है। हालांकि, अमेरिका समेत दुनिया के तमाम विकसित व विकासशील देश कोरोना की वैक्‍सीन तैयार करने में जुटे हैं। कई तो ट्रायल के स्‍तर पर असफल भी हो चुके हैं, लेकिन  दावे को सही माने तो रूस ने वैक्‍सीन को सफल करार देकर बाजी मार ली है।

18 जून को टीके का शुरू हुआ था ​​परीक्षण

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव ने कहा हैं कि विश्वविद्यालय ने 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके का परीक्षण शुरू किया था , जिसे सफल पाया गया है।

दावे से दुनिया भर में हलचल

कोरोना की वैक्सीन बनाये जाने की खबर मिलते ही दुनिया भर में हलचल पैदा हुई है , विश्वभर में तबाही मचा रहे और दुनियाभर के पहियों को रोक देने वाली इस महामारी से निजात के लिए लोग वैक्सीन के बेसब्री से इंतजार में है , हालांकि किये गए दावे की पुष्टि अभी नही हो पाई है पर आज दिन भर गूगल और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लोग इस वैक्सीन के दावे की पुष्टि करने में जुटे रहे , हालांकि अभी किसी भी तरह की कोई स्पष्ठ जानकारी वैक्सीन के विषय मे प्राप्त नही हो पाई है , पर आने वाले समय मे शायद इस पर कोई सफलता जरूर हाथ आये ,ऐसी आशा है।