अंतरराष्ट्रीय

खबरदार चीन, पाकिस्तान! भारी सुरक्षा के बीच अंबाला पहुंची राफेल की पहली खेप

अत्याधुनिक लड़ाकू राफेल के 5 विमानों की पहली खेप आसमान में कड़ी निगरनी के बीच फ्रांस से आज अंबाला एयरबेस पहुंची, जिसके बाद भारतीय वायुसेना के इतिहास में 29 जुलाई की तारीख को सुनहरे अक्षरों से लिखा जाएगा। राफेल के वायुसेना के बेडे़ में शामिल होने के बाद उसकी ताकत अब कई गुणा बढ़ गई है। इन राफेल विमानों को पानी की बौछार के साथ वाटर सैल्यूट किया गया। पाकिस्तान और चीन के साथ जिस तरह की आज सीमा पर स्थिति बनी है उसके मद्देनजर राफेल लड़ाकू विमान को काफी अहम माना जा रहा है।

दुश्मन की नींद उड़ाने वाले अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों के वायुसेना बेड़े में शामिल होने से न सिर्फ भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ेगी बल्कि चीन और पाकिस्तान के लिए इसका एक अलग संदेश है। इस मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पांचों राफेल विमानों की अंबाला में सुरक्षित लैंडिंग हुईं। उन्होंने कहा कि वायुसेना की ताकत में इससे क्रांतिकारी बढ़ोतरी होगी।  सेना के इतिहास में नए युग की शुरुआत हुई है।

रक्षामंत्री ने कहा कि अब देश के दुश्मनों को सोचना होगा। उन्होंने ट्वीट कर कहा, भारतीय वायुसेना की नई ताकत से अगर किसी को चिंता होना चाहिए तो उन्होंने होना चाहिए जो हमारे क्षेत्र की अखंडता के लिए खतरा हैं।